हनुमान गायत्री मंत्र

ओम् आंजनेयाय विद्मिहे वायुपुत्राय धीमहि |

तन्नो: हनुमान: प्रचोदयात ||1||

 

ओम् रामदूताय विद्मिहे कपिराजाय धीमहि |

तन्नो: मारुति: प्रचोदयात ||2||

 

ओम् अन्जनिसुताय विद्मिहे महाबलाय धीमहि |

तन्नो: मारुति: प्रचोदयात ||3||

 

हनुमान गायत्री मंत्र का जाप कैसे करें

सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको सुबह-सुबह स्नान करने के बाद भगवान हनुमान की मूर्ति या तस्वीर के सामने हनुमान गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए। इसके प्रभाव को अधिकतम करने के लिए आपको सबसे पहले हनुमान गायत्री मंत्र का अर्थ हिंदी में समझना चाहिए।

हनुमान गायत्री मंत्र के लाभ

हनुमान गायत्री मंत्र का नियमित जाप मानसिक शांति देता है और आपके जीवन से सभी बुराइयों को दूर रखता है और आपको स्वस्थ, समृद्ध और समृद्ध बनाता है।